Types Of Lines In Engineering Drawing | इंजीनियरिंग ड्राइंग रेखाएँ नोट्स

Types Of Lines In Engineering Drawing | इंजीनियरिंग ड्राइंग रेखाएँ नोट्स…


Engineering Drawing Lines : ड्राइंग बनाते समय बहुत प्रकार की रेखाओं का उपयोग किया जाता है , जिनके द्वारा किसी भी बस्तु की विभिन्न संक्रियाओं एवं बनावटों को प्रदर्शित किया जाता है| अतः हम कह सकते हैं की रेखाएँ ड्राइंग के लिए वर्णमाला के सामान ही कार्य करती है| इंजीनियरिंग ड्राइंग में प्रयोग होने वाली प्रत्येक रेखा का अलग अलग अर्थ और उपयोग होता है जिनका ज्ञान होना बहुत ही जरुरी है| नमस्कार मेरा नाम अभिजीत मिश्रा है और आज के इस पोस्ट में हम लोग यही सीखने वाले है, इंजीनियरिंग ड्राइंग में प्रयोग होने वाली रेखाएँ और उनके होने वाले प्रयोग तथा Types Of Lines In Engineering Drawing के बारे में तो इस पोस्ट को अन्त तक जरुर पढ़ें…

रेखा (Line) : समतल पर किसी गतिमान बिंदु द्वारा बनने वाले बिन्दुपथ को रेखा कहते हैं| दुसरे शब्दों में कहें तो दो या दो से अधिक बिन्दुओं द्वारा बना बिन्दुपथ रेखा कहलाता है |

रेखाएँ कितने प्रकार के होते हैं.? | Types Of Lines

रेखा मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं :-

  1. सीधी रेखा 
  2. वक्र रेखा

सीधी रेखा ( Straight Line ) : किसी बिंदु के एक ही दिशा विशेष में गतिमान होने पर बना बिंदुपथ सीधी रेखा (Straight Line) कहलाता है|

Example : 

अनंत लम्बाई की सीधी रेखा

निश्चित लम्बाई की सीधी रेखा

Types Of Straight Line | सीधी रेखा कितने प्रकार के होते हैं.?

सीधी रेखा मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं :-

  1. क्षतिज रेखा 
  2. उर्ध्वार्धर रेखा
  3. त्रियक रेखा

क्षैतिज रेखा (Horizontal Line) : क्षैतिज तल के समान्तर रेखाएँ क्षैतिज रेखाएँ कहलाती है|

उर्ध्वार्धर रेखा (Vertical Line) : वे रेखाएँ जो क्षैतिज रेखाओं के लम्बवत होती है उर्ध्वार्धर रेखाएँ कहलाती है| निचे दिए गये चित्र के माध्यम से भी आप समझ सकते हैं|

त्रियक रेखा (Inclined Or Oblique Line) : त्रियक रेखाओं से आशय उन रेखाओं से है जो न तो उर्ध्वार्धर होती है और ना ही क्षैतिज| निचे चित्र के माध्यम से आप समझ सकते हैं, जो की ना तो उर्ध्वार्धर है और ना ही क्षैतिज|
वक्र रेखा (Curved Line) : जब कोई बिंदु किसी समतल पर विभिन्न दिशाओं में गति करता है तो उसकी गति से बनने वाले बिन्दुपथ को वक्र रेखा कहते हैं| निचे दिए गये चित्र
के माध्यम से भी समझे-
Engineering Drawing Another Types Of Lines | इंजीनियरिंग ड्राइंग की अन्य रेखाएँ
  1. समान्तर रेखाएँ (Parallel Lines)
  2. लम्बवत रेखाएँ (Perpendicular Lines)

समान्तर रेखाएँ (Parallel Lines) : वे रेखाएँ जो सामान दुरी पर आगे बढ़ते हुए एक दुसरे को कभी काटे नहीं वह समान्तर रेखाएँ कहलाती हैं| रेखाएँ सीधी या वक्राकार आकर की भी हो सकती है पर वो कही एक दुसरे को प्रतिछेदित ना करे| निचे चित्र के माध्यम से भी समझें

लम्बवत रेखाएँ (Perpendicular Lines) : जब दो रेखाओं को 90 डिग्री का कोण ( समकोण ) बनाते हुए मिलाया जाता है, तब ये रेखाएँ परस्पर लम्बवत रेखाएँ कहलाती है| इनमे से एक रेखा सन्दर्भ रेखा (Reference Line) होती है| निचे चित्र में दर्शाया गया है|
तो आज एक इस पोस्ट में बस इतना है उम्मीद है की आपको Types Of Lines In Engineering Drawing | इंजीनियरिंग ड्राइंग रेखाएँ नोट्स बहुत ही अच्छे लगे होंगे तो इसे अपने दोस्तों में भी शेयर जरुर करें|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *